Get All India Board Examination Results 2020

कक्षा 10 के विज्ञान और गणित विषय में A1 स्कोर करने के लिए सुझाव

सीबीएसई कक्षा 10 के परीक्षा परिणाम तेजी से आ रहे हैं और इस समय तक उम्मीदवार अपना पाठ्यक्रम पढ़ कर समाप्त कर चुके होते हैं। जिससे वह प्रत्येक अध्याय के बारे में स्पष्ट विचार कर सकते हैं। हालांकि, यदि आपको अपने पढ़े हुए पाठों पर संदेह है, तो भी चिंता की कोई बात नहीं है, क्योंकि हम इसे ठीक करने के लिए यहां हैं। हम आपकी मदद के लिए सदैव तत्पर हैं। अपनी तैयारी के अंतिम महीनों के दौरान, अधिकांश छात्र विशिष्ट परिस्थितियों का सामना करते हैं जो कभी-कभी बहुत ही निराशाजनक बन जाती हैं। हम आपको ऐसी ही कुछ परिस्थितियों के बारे में बता रहे हैं। 

सबसे पहले, जब आप अपने दोस्तों के साथ सवालों पर चर्चा करते हैं और आपका जवाब उनके लिए काफी ठोस नहीं होता है तो आप चिंता में आ जाते हैं। दूसरा, जब आप कई बार कोशिश करने के बाद भी कुछ समस्या को प्रभावी ढंग से हल नहीं कर पाते हैं तो आपको समझ नहीं आता कि इसका हल कैसे किया जाए। तीसरा, जब आपका शिक्षक कक्षा में चर्चा शुरू करता है, अचानक आपको पता चलता है कि उस विशेष विषय के बारे में जानने के लिए और भी बहुत सी बातें हैं और इतने कम समय मे आप सब कुछ कैसे पढ़ेगें। लेकिन, इन चीजों से डरने से आपको सफलता नहीं मिल सकती। इसके लिए आपको इनका सामना करना होगा। स्थिति का ठीक से विश्लेषण करना और इसे दूर करने का एक तरीका तैयार करना इस समय कुछ बहुत ही महत्वपूर्ण होता है।

यह कहा जाता है कि यदि आप अपने सीबीएसई कक्षा 10 केू बोर्ड में  परीक्षा में अच्छे अकं प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको गणित और विज्ञान के पेपर में 90 में से 81 से ऊपर ए 1  का स्कोर करना होगा। इसलिए, यहां सीबीएसई कक्षा 10वीं की विज्ञान और गणित के पेपर में A1 स्कोर करने के लिए एक पूर्ण गाइड और युक्तियां दी गई हैं जो आपके लिए काफी सहायक हो सकती हैं। 


विज्ञान का पेपर

सीबीएसई कक्षा 10 वीं का विज्ञान विषय मुख्य रूप से निम्नलिखित क्षेत्रों - रसायन विज्ञान, भौतिकी और जीव विज्ञान पर केंद्रित होता है। जो छात्र ग्यारहवीं कक्षा में विज्ञान धारा का लेना चाहते हैं तो उन्हें सलाह दी जाती है कि वे इन तीनों क्षेत्रों पर सख्ती से ध्यान दें क्योंकि इससे उनकी नींव साफ और मजबूत हो जाएगी।


सीबीएसई कक्षा 10वीं के विज्ञान के पेपर की तैयारी के सुझाव

• सूत्रों, प्रयोगों और व्युत्पत्तियों की पूरी सूची को संभाल कर रखा जाना चाहिए।

• महत्वपूर्ण नोट बना कर रखना और यहां तक कि उन्हें नोट बुक में लिखना ऐसा करने से आपको पढ़ने में आसानी होती है। लिख के पढ़ने से चीजे अधिक याद रहती है। नोट बुक में पृष्ठों को सारांशित करने के लिए मार्जिन का उपयोग किया जाना चाहिए।

• एक उचित समय सारणी बनाएं जो आपको 10 से 15 दिनों के अंतराल में एक ही अध्याय को फिर से संशोधित करने की अनुमति देगा।

• विज्ञान की कक्षाओं और प्रयोगशाला में जाना कभी भी ना छोड़ें। हर एक प्रयोग के लिए जितना हो सके विज्ञान प्रयोगशाला का उपयोग करें क्योंकि प्रयोग करने से आपको सूत्र और विधि ध्यान में रहेगी।

• सब कुछ याद करके रटा मारने की बजाए अपनी भाषा (बिना मतलब बदले) में चीजों को लिखने की आदत बनाना शुरू करें। दिए गए सेट में पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों के उत्तर देकर समय प्रबंधन जानें कि आप एक सीमित समय में कितने सवालों को हल कर लेते हैं।

• विज्ञान में अच्छा स्कोर करने के लिए एनसीईआरटी की  पुस्तकों को पूरी तरह से पढ़ना चाहिए। लगभग पूरा प्रश्न पत्र उन अवधारणाओं के इर्द-गिर्द  ही घूमता है जो एनसीईआरटी पुस्तक में दी गई हैं।

•विज्ञान के कुछ फ़ार्मुलों के कुछ नियम हैं जिनका आपको कड़ाई से पालन करने और उनका सही उपयोग करने की आवश्यकता है। उदाहरण के लिए, द्विघात सूत्र का उपयोग करने के लिए; आपको पहले समीकरण को मानक द्विघात रूप में बदलना होगा।


गणित का पेपर

सीबीएसई कक्षा 10 वीं की गणित बुनियादी ज्यामिति, त्रिकोणमिति और संख्याओं की अवधारणा पर केंद्रित है। यह विषय एक बुनियादी योग्यता और अवधारणाओं का निर्माण करने में मदद करता है जो उन छात्रों के लिए फायदेमंद होंगे जो भविष्य में योग्यता आधारित परीक्षणों के लिए उपस्थित होना चाहते हैं।  गणित का पेपर कोई हौवा नहीं होता यदि आप सही सूत्रों का प्रयोग कर सही विधि में सवालों को हल करते हैं तो आप इस पेपर में पूरे-पूरे अंक प्राप्त कर सकते हैं।


सीबीएसई कक्षा 10वीं के गणित के पेपर के लिए तैयारी के सुझाव


• सीबीएसई कक्षा 10 गणित के फॉर्मूले बहुत सामान्य हैं, लेकिन कभी-कभी पिछले प्रश्न पत्रों में यह देखा जाता है कि प्रश्न ऐसे संख्यात्मक के बीच से पूछे जाते हैं, जिन्हें आपको पहचानना मुश्किल हो जाता है इसलिए सूत्रों का अधिक से अधिक अभ्यास करें।

• अवधारणाओं/ सूत्रों की शीट को संभाल कर रखा जाना चाहिए।

• आपको सभी गणित के फॉर्मूले का उपयोग पता होना चाहिए।

• यदि आप वास्तव में सीबीएसई की गणित की परीक्षा में ए 1 स्कोर करना चाहते हैं, तो यह पूरी तरह से आपके एनसीईआरटी पुस्तक के साथ जुड़ने पर ही संभव होगा। आपको पुस्तक के प्रत्येक सवाल को हल करने का अभ्यास करना चाहिए। लगभग पूरे प्रश्न पत्र में एनसीईआरटी की किताब में दी गई अवधारणाएँ और सूत्र शामिल हैं।

• यदि आप किसी समस्या पर आधारित प्रश्न हल कर रहे हैं, तो समस्या को बार-बार पढ़ने की सलाह दी जाती है, ताकि आपको जो हल करने के लिए कहा जा रहा है, उसका सटीक पता लग सके।

• एक मोटे कागज में लिखें, कि प्रश्न पत्र में क्या दिया गया है और आपको क्या खोजने के लिए कहा गया है। फिर एक व्यवस्थित तरीके से, कोशिश करें और जो आपसे पूछा गया है उसका ही उत्तर दें आप चाहें तो सूत्रों को रद्दी पेपर में लिख कर अभ्यास कर सकते हैं।

• एक बार संशोधन हो जाने के बाद, दिए गए सेट के भीतर सैंपल पेपर्स, बिना हल हुए पेपर्स और प्रैक्टिस पेपर्स को हल करना शुरू करें। 

यदि आप इन सूझावों पर अमल करते हैं तो आपको ए1 लाने से कोई नहीं रोक सकता। आप गणित और विज्ञान के पेपर में अच्छे अंक अर्जित कर सकते हैं।

Connect me with the Top Colleges