Get All India Board Examination Results 2020

भारत में मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी के सुझाव

सालों पहले जब मेडिकल सुविधाओं का विकास इतना नहीं हुआ था, तब हम हर बीमारी को अपना प्रारब्ध या प्रकृति का न्याय माना करते थे। लोग बीमारी से लडना तो दूर रहा, उसके नाम से ही घबराया करते थे। ऐसे में अमूमन साधारण बीमारियां भी जानलेवा हुआ करती थीं। लेकिन आज ऐसा नहीं है। पिछले सौ सालों में मेडिकल सांइस में हुई तेज तरक्की ने लोगों की पुरानी धारणा को तो बदला ही है, लोगों को जीने का हौसला भी दिया है। इस हौसले को अपनी क्षमताओं और गहरे समर्पण के बूते आधुनिक धन्वंतरि और भी आसान बना रहे हैं। यदि आपमें भी दर्द झेल रही मानवता के कष्टों के बरक्स अपनी जिम्मेदारी का अहसास है तो चिकित्सक बनकर अपनी इस जिम्मेदारी को बखूबी पूरा कर सकते हैं। 
ऑल इंडिया प्री मेडिकल टेस्टयानि एआईपीएमटी इस क्षेत्र में आपकी राह प्रशस्त कर सकता है।

भारत में मेडिकल प्रवेश परीक्षाएं भारत के हर कोनों में रहने वाले छात्रों के लिए होती है जिनके जरिए वो चिकित्सा के क्षेत्र में अपना करियर बनाने का सपना पूरा कर सकते हैं। यह उन लोगों के लिए तैयारी का समय है जो भारत में मेडिकल प्रवेश परीक्षाओं के लिए बैठने की योजना बनाते हैं। आप में से बहुत से लोगों ने मेडिकल की प्रवेश परीक्षा के लिए  सर्वश्रेष्ठ कोचिंग संस्थाओं में दाखिला लिया होगा या किसी ऐसे व्यक्ति की मदद लेना शुरू कर दिया होगा जिसने पहले मेडिकल प्रवेश परीक्षा पास की हो। लेकिन स्पष्ट रूप से आप यह बताएं कि आप में से कितने के पास स्टडी प्लान है?  एक प्रवेश परीक्षा को पास करने के लिए एक उचित अध्ययन योजना सबसे महत्वपूर्ण है।

एक बच्चे के रूप में, हम में से ज्यादातर लोगों का यही सपना होती है कि बड़े होकर हम डॉक्टर बनेगें। भला कोई भी व्यक्ति आखिर क्यों नहीं डॉक्टर बनने का सपना देखेगा जबकि हम जानते हैं कि डॉक्टर का पेशा सबसे सम्मानजनक होता है। एक डॉक्टर भगवान के समान होता है जिसे जीवन देने का हक होता है। इसलिए इस पेशे को अधिकतर लोग अपनाना चाहते हैं। लेकिन, हमें यह भी नहीं भूलना चाहिए कि डॉक्टर बनने की राह आसान नहीं होती। मेडिकल प्रवेश परीक्षा को भारत में सबसे महत्वपूर्ण और कठिन प्रवेश परीक्षाओं में से एक माना जाता है। भारत में 387 मेडिकल कॉलेजों (206 निजी मेडिकल कॉलेजों और 181 सरकारी मेडिकल कॉलेजों) के लिए हर साल लाखों छात्र स्नातक स्तर पर 51,979 और 24,196 स्नातकोत्तर स्तर पर इस प्रवेश परीक्षा को पास करने की प्रतिस्पर्धा करते हैं।

हर साल चिकित्सा उम्मीदवारों की बढ़ती संख्या के साथ, इन परीक्षाओं में बेहतर प्रदर्शन करने का मुख्य मानदंड एक उत्कृष्ट तैयारी और दबाव को संभालने की क्षमता होती है। एक उत्कृष्ट तैयारी के साथ शुरू करने के लिए पहली बात मेडिकल प्रवेश परीक्षा का सिलेबस का होना है। भारत में लगभग सभी मेडिकल प्रवेश परीक्षाओं के लिए एमबीबीएस कार्यक्रम पाठ्यक्रम समान हैं।  एआईपीएमटी सिलेबस इसके संदर्भ के रूप में सबसे अच्छा होता है।

मेडिकल प्रवेश परीक्षा के लिए तैयारी का समय एक उम्मीदवार का दूसरे में भिन्न हो सकता है, लेकिन आमतौर पर कक्षा 10 की बोर्ड परीक्षा के बाद मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी शुरू करने के लिए सबसे अच्छा समय माना जाता है, क्योंकि कक्षा 11 वीं और 12 वीं के लिए पाठ्यक्रम लगभग एक समान होता है जिससे आप मेडिकल के साथ-साथ बोर्ड की भी तैयारी कर सकते हैं। ऐसा करने से आप एक साथ दो परीक्षाओं की तैयारियां कर सकते हैं। 

मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी के लिए सुझाव


1. मेडिकल प्रवेश परीक्षा के लिए एक तय सिलेबस को पूरा करने के लिए समय रखें। प्रत्येक सप्ताह के लिए लक्ष्य रखें और सप्ताह के अंत में जांचें कि आपने कितनी प्रगति की है।


2. एनसीईआरटी की पुस्तकों को पूरी तरह से पढ़ना अपनी पसंद बनाएं। भौतिकी, रसायन विज्ञान, एवं  जीवविज्ञान, अंग्रेजी और सामान्य ज्ञान सहित प्रत्येक विषय के लिए 1 या 2 पुस्तकों का संदर्भ लें। हर पुस्तक को ध्यान से और समझ कर पढ़ें।


3. अधिक ध्यान अपने मूल सिद्धांतों को साफ करने में लगाना चाहिए ताकि आपको किसी भी तरह का संदेह ना रहें। अपनी अवधारणाओं को साफ़ करने के बाद ही, किसी विशेष विषय की गहराई में आगे बढ़ना आपके लिए आसान होगा।

4. अपने शिक्षक से पूछने में संकोच न करें, अगर आपको लगता है कि आपने एक निश्चित अवधारणा को ठीक से नहीं समझा है तो एक बार नहीं कई बार उसका सही जवाब तलाशें। 

5. एक पूर्ण समय सारणी बनाएं और उस पर अमल करें। 

6. अनुभागीय परीक्षण करके आत्म मूल्यांकन करते रहें। पिछले 10 वर्षों के प्रश्न पत्रों को हल करने का प्रयास करें जो आपको आपकी कमजोरियों पर काम करने और समय प्रबंधन सीखाने में भी मदद करेंगे ऐसा करने से आप अपनी गलती में सुधार कर स्वंय को तैयार कर सकते हैं।


7. आगे बढ़ने से पहले अपनी कमजोरियों को दूर करने के लिए हमेशा याद रखें।


8. रिविजन यानि संशोधन भी एक बहुत अच्छी बात है जिसे हमेशा ध्यान में रखना चाहिए। नियमित संशोधन के साथ एक नियमित अध्ययन आपको अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करेगा।

9. प्रसिद्ध डॉक्टरों द्वारा लिखित विभिन्न लेखों, पुस्तकों, पत्रों या ब्लॉगों को पढ़ने का समय निकालें। उनकी लिखी बातों को पढ़ने से आपको उनकी सफलता की कहानियों के बारे में जानने में मदद मिलेगी। आपको पता चलेगा कि वे कितने समर्पण और मेहनत के बाद डॉक्टर बने हैं।


10. अपने लिए समय निकालें और खुद को दबाव में न रखें। अपने आप को कुछ ऐसा करने में व्यस्त रखें जो आप करना पसंद करते हैं। आप अपनी रुचि का कोई खेल खेल सकते हैं या कोई अच्छी फिल्म देख अपना तनाव कम कर सकते हैं। हमेशा याद रखें कि यह सिर्फ एक प्रवेश परीक्षा है जो जल्द ही पास हो जाएगी।


शीर्ष चिकित्सा प्रवेश परीक्षा पैटर्न


• अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स, एमबीबीएस)
एम्स,एमबीबीएस प्रवेश परीक्षा एक 3 घंटे की अवधि का पेपर-आधारित परीक्षण है जिसमें 200 वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न होते हैं। जो लिखित और बहुविकल्पी होंगे। सामान्य ज्ञान में 20 प्रश्न होंगे।

• अखिल भारतीय प्री-मेडिकल/प्री-डेंटल प्रवेश परीक्षा (एआईपीएमटी) सीबीएसई नीट आयोजित करता है और इसे भारत में सबसे कठिन मेडिकल प्रवेश परीक्षाओं में से एक माना जाता है। परीक्षा में 180 ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्न होते हैं, जिसमें फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी के 45 प्रश्न होते हैं जिनमें से प्रत्येक में 4 अंक होते हैं। हर गलत उत्तर के लिए एक अंक काटा जाता है। हालांकि, किसी भी प्रश्न के लिए कोई प्रतिक्रिया नहीं होने पर कोई अंक नहीं काटा जाता। एआईपीएमटी की अवधि 3 घंटे की होती है।

•जेआईपीएमईआर(जवाहरलाल इंस्टीट्यूट ऑफ पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च)
जेआईपीएमईआर एक 2.5 घंटे की अवधि का ऑनलाइन टेस्ट है जिसमें 200 बहुविकल्पीय प्रश्न  होते हैं जिनमें से प्रत्येक में 60 फिजिक्स, 60 केमिस्ट्री और 60 बायोलॉजी के और अंग्रेजी के 20 प्रश्न होते हैं। गलत उत्तरों के लिए नकारात्मक अंक होते हैं।


मेडिकल प्रवेश परीक्षा बेसिक पैटर्न


• अंग्रेजी और हिंदी एक मेडिकल प्रवेश परीक्षा के प्रश्न पत्र की भाषा का माध्यम है।

• चिकित्सा के लिए एक चरण या दो चरण की प्रवेश परीक्षा है। पहले चरण में चयन प्रक्रिया को अंजाम देने के लिए सिर्फ एक परीक्षा शामिल होती है जबकि दूसरे चरणों में प्रवेश परीक्षा प्रारंभिक होती है और फिर उम्मीदवारों के चयन के लिए एक मुख्य परीक्षा आयोजित की जाती है।


• किसी भी मेडिकल प्रवेश परीक्षा के प्रश्न पत्र में चार भाग होते हैं - भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीवविज्ञान और सामान्य ज्ञान।


• फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी के 60 प्रश्न होंगे और सामान्य ज्ञान के पेपर में 20 प्रश्न होंगे।

• प्रश्न चार विकल्प के साथ वस्तुनिष्ठ प्रकार के होंगे और प्रत्येक सही उत्तर में 1 अंक होगा। निगेटिव मार्किंग भी होती है और हर गलत उत्तर के लिए एक तिहाई अंक मिलते हैं।


• प्रवेश परीक्षा पास करने के बाद उम्मीदवारों को काउंसलिंग के लिए बुलाया जाता है और इसके लिए काउंसलिंग पत्र के साथ व्यापक प्रवेश प्रक्रिया का एक प्रॉस्पेक्टस उन्हें भेजा जाता है।



मेडिकल प्रवेश परीक्षा की किताबें

Biology Section

Theory Books
Trueman’s Elementary Biology, Vol I and II (English)
Exploring Biology for Medical Entrances (Volume I and II) (English) 5th Edition
Objective Biology
Trueman’s Objective Biology for Medical Entrance Examinations

Chemistry Section

Objective NCERT at Your Fingertips Chemistry (Class 11 12) (English) By MTG
Physical Chemistry
Concepts of Physical Chemistry For JEE (English) 8th Edition By P. Bahadur
A Textbook Of Physical Chemistry For Competitions For Jee & All Other Engineering Entrance Exams
Organic Chemistry
A New Pattern Textbook of Organic Chemistry for Competitions (English) 16 Edition By O.P Tandon
A Guidebook to Mechanism in Organic Chemistry (English) 6th Edition by Peter Sykes
Inorganic Chemistry
A New Pattern Text Book Of Inorganic Chemistry For Competitions By O.P Tandon
Concise Inorganic Chemistry (English) 5th Edition By J.D Lee
Physics Section
Concepts of Physics Volume I and II by H.C. Verma
Fundamentals of Physics, by Halliday, Resnik and Walker
Objective/Numerical Physics Books
Objective Physics for Medical Entrances Examinations (Volume I and II) 4th Edition
Some other books include:

All India Pevious years' solved papers by Mudit Khanna
AIIMS solved papers by Amit and Ashish
Tehalaka by Dr. Rajesh Prasad (it contains solved mcqs of anatomy, physiology, biochemistry and forensic medicine)
Sure Success By Ramgopal

भारत में मेडिकल प्रवेश परिक्षाओं के लिए कोचिंग सेंटर

Aakash Institute
Allen Career Institute Kota, Rajasthan
Brilliant Tutorials in Haldwani, Lucknow, Faridabad, Mumbai, Guwahati
Bansal Classes in Kota, Rajasthan) and also available through distance and online programs
Delhi Academy of Medical Sciences (DAMS)

कोटा में शीर्ष मेडिकल कोचिंग इंस्टिट्यूट
Bansal Classes
Aakash Institute
Allen Career Institute

दिल्ली में शीर्ष मेडिकल कोचिंग इंस्टिट्यूट

Aakash Institute
Oasis Educational Services
Sahil Study Circle Private Ltd - 15 study centres in Janakpuri, Rohini, Pusa Road, Munirka, Kingsway Camp (all in Delhi), Faridabad, Chandigarh, Ludhiana, Jammu, Srinagar, Patna, Ranchi, Hamirpur, Varanasi and Nepal.

मुम्बई में शीर्ष मेडिकल कोचिंग इंस्टिट्यूट


Elite Academy
Akash Institute
Sahil Study Circle
Naik Academy

Connect me with the Top Colleges