Get All India Board Examination Results 2019

करियर विकल्प

अपने करियर को चुनना एक महत्वपूर्ण निर्णय होता है, जो कई कारकों पर आधारित होता है जिसमें रुचियां, कौशल, शिक्षा योग्यता और व्यक्तित्व शामिल हैं। आज, छात्र विकल्पों की अधिकता के कारण निरस हो गए हैं। इसलिए करियर का चुनाव करना बहुत मुश्किल काम हो गया है। अक्सर छोटी उम्र में छात्र ‍विषय का चयन कर लेते हैं लेकिन उनके मन में ये सवाल उमड़ते हैं कि इस विषय से संबंधित किस क्षेत्र में उनके लिए ज्यादा स्कोप है। कई बार जानकारी के अभाव में वे गलत दिशा में आगे बढ़ जाते हैं। 

अक्सर कक्षा 10वीं एवं 12वीं के छात्रों के मन में यही सवाल आता रहता है कि वह किस क्षेत्र में करियर बनाएं। आपके जानने वाले, माता पिता या रिश्तेदार आपसे अवश्य पूछते होंगे कि 12 वीं के बाद क्या करना है ? किस स्ट्रीम में जाना है ? आदि। लेकिन कुछ छात्र अभी तक यह तय नहीं कर पाते कि उन्हें भविष्य में क्या करना है? करियर का कौन सा फील्ड उनके लिए सही रहेगा ? इस प्रश्न को लेकर उलझन में रहते हैं तथा कुछ भी तय नहीं कर पाते। अतः आपको सही निर्णय लेने के लिए अधिक समय और ऊर्जा खर्च करने की आवश्यकता है। आज समय बदल रहा है आज बच्चे इंजीनियरिंग, चिकित्सा या कानून के पारंपरिक करियर विकल्पों से परे विकल्प चुनते हैं। आज बच्चे आतिथ्य और पर्यटन, मीडिया और जन संचार एवं कंप्यूटर और आईटी में करियर का विकल्प तलाश रहें हैं उन्हें चुन रहें है।  आपको अपनी क्षमताओं और रुचियों के विषय में जानना अत्यंत आवश्यक है तभी आप अपने लिए बेहतर विकल्प तलाश सकते हैं। इसके लिए कुछ सुझाव नीचे दिए गए हैं जो आपको करियर विकल्प चुनने में आपकी मदद करेगें।


खुद का आकलन करें: अपने करियर का चुनाव करने से पहले, आपको अपनी पसंद और नापसंद को समझना चाहिए। यदि आप अपने व्यक्तित्व लक्षणों और रुचियों के बारे में स्पष्ट हैं, तो आपका करियर चुनना बहुत सरल हो जाता है। यदि आप एक रचनात्मक व्यक्ति हैं, तो आपको मीडिया और संचार में करियर चुनना चाहिए। इसी तरह, अगर आप मशीनों का निर्माण करना या कंप्यूटर पर काम करना पसंद करते हैं, तो इंजीनियरिंग में करियर आपके लिए अनुकूल होगा। यदि आप समाजिक सेवा करना चाहते हैं तो समाज सेवा में करियर के कई विकल्प हैं। यह निर्भर करता है कि आपकी रुचि किस ओर है।

शैक्षिक योग्यता: अब जब आपके पास आपकी डिग्री है, तो बेहतर है कि आप अपनी योग्यता के साथ करियर की शुरुआत करें। प्रबंधन, वित्त और इंजीनियरिंग जैसे कुछ करियर के लिए विशेष योग्यता की आवश्यकता होती है। इसलिए आपकी डिग्री भी बहुत मायने रखती है। आपने किस विषय में पढ़ाई की है यह भी आपका करियर विकल्प चुनने में बहुत मदद करता है।

अपने लक्ष्य निर्धारित करें: आपको अपने जीवन के लिए लक्ष्य निर्धारित करने चाहिए। आपके पास अगले पांच साल के लिए एक योजना होनी चाहिए और उसी के अनुसार अपने करियर की दिशा में काम करना चाहिए। यदि आप जानते हैं कि आप जीवन में क्या करना चाहते हैं और आप अपने आप को पांच साल बाद कहां देखना चाहते हैं, तो आपका करियर चुनना सरल हो जाएगा।

करियर की व्यवहार्यता: आपको ऐसे करियर का विकल्प चुनना चाहिए, जिसमें नौकरी की उत्कृष्ट संभावनाएं हों। हालांकि लगभग सभी करियर में नौकरी की अच्छी संभावनाएं हैं, आपको शुरुआती दिनों में संघर्ष करना पड़ सकता है जहां तक कुछ करियर का संबंध है वहां हो सकता है आपको पढ़ाई के बीच में ही नौकरी मिल जाए। यदि आप लेखक बनना चाहते हैं, तो आपको कुछ समय के लिए तकनीकी या सामग्री लेखक के रूप में काम करने की सलाह दी जाती है, इससे पहले कि आप खुद को एक कथा लेखक के रूप में स्थापित कर सकें। आपको एक अच्छा लेखक बनने में समय भी लग सकता है। वहीं इसके विपरित यदि आप मैनेजमेंट या अन्य कुछ चुनते हैं तो हो सकता है आपको प्लेसमेंट मिल जाए लेकिन सफलता जल्दी नहीं मिलती। इसलिए आपके अंदर धैर्य का होना भी अतिआवश्यक है। तभी आप अपने करियर में सफल हो  पाएगें। 

यहां कुछ करियर विकल्प दिए गए हैं जिन पर क्लिक कर आप अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं-



Connect me with the Top Colleges