Get All India Board Examination Results 2020

आवास प्रबंधक

यदि आपके अंदर लोग कौशल है, यदि आप लोगों को अपनी बातों से मोहित कर सकते है, यदि आपके अंदर चीजों को संभालने और प्रबंधन करने की क्षमता है तो आप आवास प्रबंधक के रुप में  करियर बना सकते हैं। आतिथ्य और पर्यटन उद्योग दुनिया भर में बढ़ रहा है और नौकरी के अवसरों की अधिकता की पेशकश कर रहा है। इस क्षेत्र में कई करियर विकल्प है जिनमें से एक है आवास प्रबंधक यानि लॉजिंग मैनेजर। इनकी इस क्षेत्र में बहुत मांग है। आपको इस उद्योग में अपनी पहचान बनाने के लिए अनुकूल, मिलनसार होना चाहिए और अच्छे पारस्परिक कौशल होने चाहिए।

लॉजिंग मैनेजर दोस्ताना, कुशल ग्राहक सेवा प्रदान करने के लिए जिम्मेदार होते हैं। वे मेहमानों के लिए आवास और आवास के लिए गतिविधियों की योजना बनाते हैं, प्रत्यक्ष और समन्वय करते हैं। अधिकांश लॉजिंग प्रबंधक पारंपरिक होटल और मोटल में काम करते हैं, लेकिन कुछ अन्य ठहरने के प्रतिष्ठानों में काम करते हैं, जैसे कि मनोरंजक शिविर और पार्क, सराय, बोर्डिंगहाउस और युवा छात्रावास प्रबंधन करना आदि।

निम्नलिखित प्रकार के आवास प्रबंधक हैं:

जनरल मैनेजर- आमतौर पर सभी विभागों और प्रबंधन की कई परतों में एक संपत्ति पर सभी आवास संचालन की देखरेख करते हैं। इन विभागों में हाउसकीपिंग, कर्मियों, कार्यालय प्रशासन, विपणन और बिक्री, क्रय, सुरक्षा, रखरखाव, मनोरंजक सुविधाएं और अन्य गतिविधियां शामिल हो सकती हैं। जनसंपर्क प्रबंधक और विशेषज्ञ; वित्तीय प्रबंधक; विज्ञापन, प्रचार और विपणन प्रबंधक; और खाद्य सेवा प्रबंधक इसमे शामिल है।

राजस्व प्रबंधक वित्तीय प्रबंधन- कमरे की बिक्री और आरक्षण की निगरानी, होटल में लेखांकन और नकदी-प्रवाह के मामलों की देखरेख, अधिभोग के स्तरों को पेश करने, और यह तय करने के लिए कि कौन से कमरे छूट देते हैं और कब विशेष दरों की पेशकश करते हैं। यह देखना इनका काम होता है।

फ्रंट ऑफिस मैनेजर- आरक्षण और कक्ष असाइनमेंट का समन्वय करते हैं और होटल के फ्रंट-डेस्क स्टाफ को प्रशिक्षित और निर्देशित करते हैं। वे सुनिश्चित करते हैं कि मेहमानों के साथ विनम्रतापूर्वक व्यवहार किया जाता है, शिकायतों और समस्याओं का समाधान किया जाता है, और विशेष सेवाओं के लिए अनुरोध किए जाते हैं। अधिकांश फ्रंट-ऑफिस प्रबंधक बिलों के समायोजन से निपटने के लिए भी जिम्मेदार हैं।

कन्वेंशन सेवा प्रबंधक- बैठकों, सम्मेलनों और विशेष आयोजनों को समायोजित करने के लिए विभिन्न विभागों की गतिविधियों का समन्वय करते हैं। वे समूह के प्रतिनिधियों के साथ बैठक करने के लिए कॉन्फ्रेंस रूम की संख्या की योजना बनाते हैं, मीटिंग स्पेस के कॉन्फ़िगरेशन को डिज़ाइन करते हैं, और यह निर्धारित करते हैं कि समूह को अन्य सेवाओं की आवश्यकता होगी, जैसे कि खानपान या दृश्य-श्रव्य आवश्यकताएं आदि।

आवास प्रबंधकों की भूमिका

  • स्वच्छता और उपस्थिति के लिए अतिथि कमरों का निरीक्षण करना।
  • मेहमानों का स्वागत और पंजीकरण करना।
  • एक व्यक्ति के साथ, टेलीफोन पर या ई-मेल के माध्यम से, एक पेशेवर और विनम्र तरीके से सभी तरह की पूछताछ करना।
  • होटल की नीतियों और सेवाओं के बारे में मेहमानों से सवाल जवाब करना।
  • होटल के वित्त को संभालना।
  • किराया और फायर स्टाफ के सदस्य देखना।
  • मेहमानों की सुविधा का ख्याल रखना।
  • पेशेवर तरीके से ग्राहकों की शिकायतों से निपटना।
  • होटल या मोटल की फ्रंट-ऑफिस गतिविधियों का समन्वय करना और समस्याओं का समाधान करना।
  • कमरे की दर और बजट निर्धारित करना, व्यय को मंजूरी देना और विभिन्न विभागों को धन आवंटित करना।

आवास प्रबंधकों के कौशल

ग्राहक-सेवा कौशल: होटल की सफलता के लिए सर्वोत्तम सेवाओं को सुनिश्चित करने के लिए लॉजिंग प्रबंधकों के पास उत्कृष्ट ग्राहक-सेवा कौशल होना चाहिए। उन्हें ग्राहको को संभालने का कौशल रखना आवश्यक है।

पारस्परिक कौशल: लॉजिंग प्रबंधकों के पास प्रभावी संचार और पारस्परिक कौशल होना चाहिए क्योंकि वे विभिन्न प्रकार के लोगों के साथ व्यवहार करते हैं और तनावपूर्ण परिस्थितियों में भी मेहमानों और होटल के कर्मचारियों के साथ सकारात्मक बातचीत होनी चाहिए।

नेतृत्व कौशल: उत्पादक काम के माहौल को सुनिश्चित करने के लिए सभी लॉजिंग मैनेजरों को अच्छे कामकाजी तालमेल स्थापित करने चाहिए। इसके लिए नेतृत्व कौशल आवश्यक है।

श्रवण कौशल: सभी ठहरने वाले प्रबंधकों के पास उत्कृष्ट श्रवण कौशल होना चाहिए। मेहमानों की आवश्यकताओं को सुनकर प्रबंधकों को मेहमानों की संतुष्टि सुनिश्चित करने के लिए उचित कार्रवाई करने की अनुमति मिलती है। श्रमिकों की जरूरतों को सुनकर उन्हें कर्मचारियों के साथ अच्छे काम के रिश्ते रखने में मदद मिलती है।

प्रबंधकीय कौशल: लॉजिंग प्रबंधक बजट मामलों को संबोधित करते हैं और श्रमिकों का समन्वय और पर्यवेक्षण करते हैं। एक लाभदायक होटल का संचालन करना महत्वपूर्ण है, जैसा कि कर्मचारियों के काम को प्रेरित करने और निर्देशित करने की आवश्यकता है।

संगठनात्मक कौशल: लॉजिंग प्रबंधक एक साथ कई अलग-अलग शेड्यूल, बजट और लोगों का ट्रैक रखते हैं। होटल का आकार बढ़ने पर यह कार्य और अधिक जटिल हो जाता है।

समस्या को सुलझाने का कौशल: कर्मियों के मुद्दों और अतिथि-संबंधित असंतोष को हल करने की क्षमता लॉजिंग प्रबंधकों के काम के लिए महत्वपूर्ण है। परिणामस्वरूप, समस्याओं को हल करते समय उन्हें रचनात्मक और व्यावहारिक होना चाहिए।

कार्य योजना

अधिकांश लॉजिंग मैनेजर पूरे समय काम करते हैं। क्योंकि होटल सुबह- शाम और सप्ताहांत तक काम करते हैं। कुछ प्रबंधकों को 24 घंटे कॉल पर रहना पड़ता है। ग्राहको की सेवा के अनुरुप कार्य करना पड़ता है।

आवास प्रबंधन की शैक्षणिक योग्यता

आवास प्रबंधक के रुप में करियर बनाने के लिए आपको कक्षा 12वीं कक्षा पास करनी होगी। जिसके बाद आप जॉब ओरिएंटेड कोर्स कर सकते हैं।  बैचलर ऑफ होटल मैनेजमेंट, मास्टर इन टू-रिज्म आप कर सकते हैं।  इसके अलावा डिप्लोमा, पीजी डिप्लोमा आदि कोर्स भी उपलब्ध हैं।  बेहतर कम्यूनिकेशन, एक से ज्यादा भाषाओं का ज्ञान, लोगों में जल्दी घुल मिल जाने की आदत, मिलनसार व मधुर व्यवहार, मल्टीटास्किंग काम को इंज्वॉय करने का रवैया कुछ ऐसे गुण है जो आपकी सहायता करेगें।

आवास प्रबंधन की करियर संभावनाएं

आवास प्रबंधन के रुप में आप कई बड़े होटलो में प्रबंधक के रुप मे कार्य कर सकते हैं। 3 स्टार होटल से लेकर 5 स्टार होटलों में इनकी बहुत मागं रहती है। आप प्रबंधक के रुप में शानदार करियर बना सकते हैं।

हॉस्पिटैलिटी टूरिज्म में करियर की पूरी सूची जानने के लिए नीचे क्लिक करें

Connect me with the Top Colleges