Get All India Board Examination Results 2020

टूर गाइड और एस्कॉर्ट्स

यदि आपके अंदर बात करने का कौशल है, यदि नई-नई जगह घूमना उनके बारे में जानना आपको पंसद है, यदि आप शीघ्र ही लोगों में घुल-मिल जाते हैं तथा यदि बातों को रोमांचक तरीके से लोगों को बताने की कला आपके अंदर है तो आप टूर गाइड और एस्कॉर्ट्स के रुप में बेहतरीन करियर बना सकते हैं। टूर गाइड और एस्कॉर्ट्स उन सभी लोगों के लिए एक उत्कृष्ट करियर है जो ग्लोब ट्रॉटर हैं। टूर गाइड और एस्कॉर्ट्स में करियर आपको अंशकालिक आधार के साथ-साथ पूर्णकालिक काम करने का लचीलापन प्रदान करता है। टूर गाइड और एस्कॉर्ट्स व्यक्तियों या लोगों के समूह को पर्यटन स्थलों पर ले जाते हैं - शहरों, ऐतिहासिक इमारतों, उद्यानों, धार्मिक स्थलों, संग्रहालयों, परिभ्रमण, दर्शनीय स्थलों और अन्य दर्शनीय स्थलों के आसपास की जानकारी देते हैं। कुछ गाइड एक जगह पर आधारित होते हैं जैसे कि महल या ऐतिहासिक घर वह इनके बारे में पर्यटको को बताते हैं। टूर गाइड और एस्कॉर्ट्स आगंतुकों के समूहों का मार्गदर्शन करते हैं और इतिहास, उद्देश्य, वास्तुकला, फर्नीचर, पेंटिंग, वनस्पतियों और जीवों सहित क्षेत्रों की जानकारी देते हैं। चालक गाइड कारों या मिनीबसों में छोटे समूह चलाते हैं।

टूर गाइड बनकर आप न सिर्फ अपनी घुमक्कडी के शौक को पूरा कर सकते हैं, बल्कि इसके जरिए अच्छी कमाई भी की जा सकती है। टूर गाइडिंग के क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं। वैसे भी आज के दौर में पर्यटन किसी भी देश की अर्थव्यवस्था का एक अहम हिस्सा होता है।  टूर गाइड स्वयंसेवक हो सकते हैं, या टूर ऑपरेटरों या संगठनों द्वारा नियोजित किए जा सकते हैं जो सुविधाओं के मालिक हैं या संचालित करते हैं, केवल गर्मियों के महीनों या साल भर के आधार पर आंशिक समय के लिए पूर्णकालिक रोजगार के विकल्प हैं। पूर्णकालिक आधार पर नियोजित टूर गाइड को परिपक्व होना चाहिए। विश्वविद्यालय के छात्रों द्वारा अक्सर समर गाइडिंग पोजीशन भरी जाती है।

टूर गाइड और एस्कॉर्ट्स ट्रेवल और टूरिज्म में काम करते है उन्हें यात्रा से संबंधित कई काम करने होते है। जैसे, ट्रेवल प्लानर, टूर प्लानर, गॉइड, जैसे काम के साथ ही आपको क्लाइंट जिस जगह पर घूमने जा रहा है वहां का मौसम कैसा है, वहां रुकने के लिए क्या इंतजाम रहेगा, वहां पर घूमने के कौन-कौन से स्पॉट है, टिकिट बुकिंग, होटल बुकिंग और टैक्सी बुकिंग जैसे काम करने होते है। शुरू में कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। लेकिन बाद इन सभी काम को करते-करते अनुभव हो जाता है। अनुभवी टूर गाइड पर्यवेक्षी पदों पर आगे बढ़ सकते हैं। हालांकि, उन्नति के अवसर आम तौर पर सीमित होते हैं और नए गाइडों को प्रशिक्षित करने की क्षमता की आवश्यकता होती है।

टूर गाइड्स और एस्कॉर्ट्स की भूमिका

  • पर्यटकों का अभिवादन करना और दौरे की सामग्री और लंबाई का वर्णन करना।
  • शहरों के पर्यटन, रुचि के स्थानीय बिंदुओं, ऐतिहासिक स्थलों या विधायी इमारतों, गिरिजाघरों, बार या वाइनरी जैसे प्रतिष्ठानों पर लोगों का आचरण करना।
  • समूह के बारे में क्षेत्र, संबंधित घटनाओं, सुविधाओं और हित के तथ्यों के बारे में जानकारी प्रदान करना।
  • सवालों के जवाब देना और सूचना या प्रचार सामग्री वितरित करना।
  • सुनिश्चित करना कि पर्यटक लागू सुरक्षा नियमों और आचरण के नियमों का पालन करें आपातकालीन निकासी प्रक्रियाओं को लागू करने की आवश्यकता उत्पन्न होनी चाहिए।
  • टूर गाइड अक्सर उन समूहों के बारे में जितना संभव हो पता करते हैं, जिनका वे पहले से ही रुचि के बिंदुओं का चयन करने और समूह की उम्र और हितों के लिए उपयुक्त टिप्पणी प्रदान करने के लिए मार्गदर्शन करेंगे।

टूर गाइड और एस्कॉर्ट्स के कौशल

बोलना: सूचना को प्रभावी ढंग से संप्रेषित करने के लिए दूसरों से बात करना आना चाहिए। उनका अधिकतर काम बोलने से ही होता है अतः उनके अंदर वाक् कौशल होना चाहिए।

सक्रिय श्रवण: अन्य लोग क्या कह रहे हैं, इस बात पर पूरा ध्यान देना, किए जा रहे बिंदुओं को समझने में समय लेना, प्रश्नों को उचित पूछना, और अनुचित समय पर व्यवधान न डालना इत्यादि के लिए सही सुनना बहुत आवश्यक है।

मिलनसार: सभी उम्र और पृष्ठभूमि के लोगों के साथ काम करने का आनंद लें क्योंकि आपको विभिन्न लोगों और संस्कृतियों के साथ व्यवहार करना होगा। टूर गाइड और एस्कॉर्ट्स का यह गुण बहुत काम आता है।

संचार और भाषा कौशल: टूर गाइड और एस्कॉर्ट्स के पास अच्छा संचार कौशल होनी चाहिए और भाषा पर अच्छी पकड़ भी पर्यटन के दौरान काम आती है। आप एक से अधिक भाषा सीख कर और अच्छा प्रभाव पर्यटकों पर डाल सकते हैं।

सहनशीलताः पर्यटक गाइड अधिक समय तक अपने पैरों पर खड़े रह सकते हैं। वे घर के अंदर और / या बाहर काम कर सकते हैं और कोच, ट्रेन और नावों में भी यात्रा कर सकते हैं। कुछ घर से दूर लंबी या छोटी अवधि बिताते हैं। इसके लिए सहनशीलता आवश्यकत है।

कार्य सारिणी

टूर गाइड और एस्कॉर्ट्स की नौकरी के आधार पर घंटे अलग-अलग होते हैं। मौसमी काम आम है; पार्ट टाइम काम संभव हो सकता है। कई पर्यटन सप्ताह के दौरान 40-50 घंटे काम करते हैं। ऐतिहासिक इमारतों में गाइड नियमित रूप से घंटों काम कर सकते हैं। अन्य चर घंटे काम करते हैं। शाम और सप्ताहांत का काम आम है।

टूर गाइड और एस्कॉर्ट्स की शैक्षणिक योग्यता

आप ट्रेवल और टूरिज्म में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो आप इस ट्रेवल और टूरिज्म कोर्स को 12वीं या ग्रेजुएशन कर सकते हो। अगर आपको इस क्षेत्र में 12वीं कक्षा के बाद प्रवेश करना है तो आप ट्रेवल और टूरिज्म फिल्ड में तीन साल की डिग्री के लिए आवेदन कर सकते हो। जैसे बीए, बीबीए, बीएचटीएम, बीएससी आदि कर सकते है। सर्टिफिकेट कोर्स ऑन एयरलाइंस टिकटिंग एंड टूर प्लाबनिंग, फाउंडेशन एंड कंसल्टें ट कोर्स इन टूरिज्मय लैंग्वेतज, ग्रेजुएट,इंटिग्रेटेड कोर्स इन टूरिज्मन,बैचलर इन टूरिज्म् एडमिनिस्ट्रे शन,डिप्लोकमा इन टूरिज्मि मैनेजमेंट, डिप्लोरमा इन टूरिज्म् एंड डेस्टिनेशन, मास्टिर इन टूरिज्मा,पीजी डिप्लोरमा इन ट्रैवल मैनेजमेंट आदि कोर्स भी कर सकते हैं।

भारत में टूर गाइड्स और एस्कॉर्ट्स की करियर संभावनाएं

भारत एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। भारत और विदेश दोनों देशों के कई पर्यटक पूरे साल भर भारत में विभिन्न स्थानों पर आते हैं। यहां तक कि एक सरकारी नियुक्त पर्यटक गाइड या एक निजी भी हो सकता है। केन्द्रीय व राज्य सरकारों का पर्यटन विभाग आवश्यकता के अनुसार टूर गाइड को काम देता है। ऐसे में अगर आप चाहें तो भारत पर्यटन विकास निगम व राज्य पर्यटन विकास निगम द्वारा स्वीकृत नौकरियों के लिए अप्लाई कर सकते हैं। वहीं प्राइवेट सेक्टर में भी आपके पास नौकरियों की ढेरों संभावनाएं मौजूद हैं। प्राइवेट सेक्टर में आप किसी टूर ऑपरेटर्स, ट्रैवल एजेंसी, होटल या ट्रांसपोर्ट इंडस्ट्री, एयरलाइंस या क्रूज लाइनों के साथ काम कर सकते हैं। वैसे टूर गाइड के लिए ऑनलाइन दुनिया में भी नौकरी की कोई कमी नहीं है। विभिन्न टूरिंग वेबसाइट भी लोगों की सुविधा के लिए उन्हें टूर गाइड सेवाएं प्रदान करती हैं। अगर आप किसी कंपनी में नौकरी नहीं करना चाहते तो बतौर फ्रीलांसर भी विभिन्न कंपनियों में अपनी सेवाएं दे सकते हैं।

हॉस्पिटैलिटी टूरिज्म में करियर की पूरी सूची जानने के लिए नीचे क्लिक करें

Connect me with the Top Colleges