Get All India Board Examination Results 2020

खेल पत्रकार

कई लोगों को लगता है के खेल में करियर बनाने के लिए आपको एथलीट या किसी एक खेल में अच्छा प्रदर्शन करना जरुरी है। जबकि खेल जगत काफी बड़ा है और इसमें अनेकों तरह की नौकरियां एवं क्षेत्र है जिसके लिए आपको एथलेटिक होने की जरुरत नहीं है। आप इस क्षेत्र के अन्य करियर विकल्पों में भी करियर बना सकते हैं। यदि आपको खेल पसंद है और आपको लिखने का शौक है एवं खेल की बारीकियों को जानना उसका विश्लेषण करना आपको पसंद है तो खेल पत्रकारिता के रुप में आप अपने करियर को एक नई दिशा दे सकते हैं।  जैसा की नाम से ही पता चलता है की ये एक खेल रिपोर्टिंग करियर है।  मीडिया यानी की टेलीविज़न, रेडियो, मॅगज़ीन्स और इंटरनेट हर किसी के जीवन का अभिन्न अंग बन चुका है। खेल के चाहने वाले प्रशंसक खबरों के अपडेट्स और खबर की जानकारी के लिए इन माध्यमों का उपयोग करते है।

खेल से संम्बधित हर अखबार और पत्रिका में कॉलम लिखे जाते है और उनके लिए अलग अलग पन्ने भी समर्पित होते है।  भारत में लोग ना सिर्फ खेल के बारे में पढ़ने में दिलचस्पी दिखा रहे हैं, बल्कि इस खंड का एक सार्वभौमिक पाठक वर्ग भी है। खेल पत्रकारिता इस क्षेत्र में हर दिन तेज गति से बढ़ रहा है कि और इस से खेल पत्रकारिता के बढ़ते लोकप्रियता को नाकारा नही जा सकता। खेल के चाहने वालों और खेल को फॉलो करने वाले लोगों के लिए यह एक बेहतरीन करियर है। इसमे जहाँ खेल पत्रकार को रिपोर्टिंग करने का ना सिर्फ़ मौका मिलता है बल्कि अलग अलग जगहों पर जाकर खेल कवर करने का भी अवसर भी मिलता है। इसके अलावा स्पोर्ट्स की वेन्यूस, नामी गिरामी खिलाड़ियों से मुलाक़ात, उनकी खबरों और इंटरव्यू को वापस खेल के चाहनेवालों तक पहुचना ना सिर्फ़  एक ज़िम्मेदारी है बल्कि पत्रकारों के लिए खेल की बारीकियों को नज़दीक से समझने का यह एक मौका भी होता है।

खेल पत्रकार के कार्य

पत्रकार का मुख्य काम खिलाड़ियों और टीम के ऊपर आर्टिकल और रिपोर्ट तैयार करना होता है। मीडिया के अलग-अलग माध्यमों के हिसाब से इन रिपोर्ट की रूपरेखा भी अलग-अलग होती है। अगर टीवी खेल पत्रकार हैं तो विजुअल की काफी अहमियत होती है वहीं प्रिंट या इंटरनेट पत्रकार के लिए फोटो ज्यादा महत्व रखती हैं।  खिलाड़ियों के अलावा उनके जीवन से जुड़ी स्टोरिज भी खेल पत्रकार को देनी होती है क्योंकि लोगों का खिलाड़ियों की निजी जिंदगी में काफी दिलचस्पी होती है। खेल डेस्क को संभालने की जिम्मेदारी चुनौतीपूर्ण है, नाम के विपरीत इस नौकरी में बहुत सारी यात्रा शामिल है। यात्रा के साथ, करीब समय सीमा आती है और सप्ताहांत के दौरान भी काम करने की आवश्यकता हो सकती है।पत्रकार खेल के क्षेत्र में होने वाली सभी घटनाओं के बारे में लोगों को सूचित करते हैं और उनका मनोरंजन करते हैं। खेल पत्रकार समाचार पत्रों, पत्रिकाओं और वेबसाइटों के लिए लिखकर लोगों को सूचित कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त, वे टीवी चैनल पर खेल संबंधी समाचार प्रस्तुत कर सकते हैं। इसमें अक्सर अनुसंधान और वर्तमान घटनाओं को ध्यान में रखते हुए बहुत कुछ शामिल हो सकता है। एक खेल लेखक को न केवल खेल की घटनाओं में भाग लेने के लिए उपस्थित होना पड़ता है, बल्कि उन्हें ग्राहकों या टीम के सदस्यों के साथ भी मिलना चाहिए।

खेल पत्रकारों की भूमिका

  • शोध विषय और कहानियां जो एक संपादक या समाचार निर्देशक ने उन्हें सौंपी हैं उसे जानना।
  • ऐसे लोगों का साक्षात्कार करना जिनके पास खेल की कहानी या लेख से संबंधित जानकारी, विश्लेषण या राय हों।
  • समाचार पत्रों, ब्लॉगों और पत्रिकाओं के लिए लेख लिखवा और टेलीविजन या रेडियो पर पढ़ने के लिए स्क्रिप्ट तैयार करना।
  • खेलों की सटीकता और व्याकरण की सटीकता और उनके उपयोग को सुनिश्चित करने के लिए लेखों की समीक्षा करना।
  • विशेषज्ञों और संपर्कों के साथ संबंध विकसित करना जो कहानियों पर सुझाव और लीड प्रदान करते हैं।
  • खेल समाचारों की दर्शकों की समझ बढ़ाने के लिए जानकारी का विश्लेषण और व्याख्या करें।
  • नई जानकारी उपलब्ध होते ही कहानियों को अपडेट करना।
  • खेल की बारीकियों को समझना
  • खेल एवं खिलाडियों के बारे मे जानकारी एकत्र करना, उनका साक्षात्कार एवं विश्लेषण करना।


खेल पत्रकारों का कौशल

संचार कौशल: खेल पत्रकारों को उत्कृष्ट संचार कौशल की आवश्यकता होती है जो मौखिक रूप से और लिखित रूप से समाचारों को रिपोर्टिंग करने में सक्षम हो। खेल पत्रकार को अधिकांश साक्षात्कार एवं यात्राएं करनी पड़ी है जिसके लिए उसका संवाद कौशल अच्छा होना चाहिए।

निष्पक्षता: खेल पत्रकारों को निष्पक्ष रूप से समाचार के तथ्यों और उनकी राय या पूर्वाग्रह को कहानी में सम्मिलित किए बिना रिपोर्ट करने की आवश्यकता है।

लोग के साथ काम करने का कौशल: खेल पत्रकारों को भी अन्य पत्रकारों, संपादकों और समाचार निदेशकों के साथ अच्छा काम करने की आवश्यकता होती है इसके अलावा वे संपर्क विकसित करते हैं और साक्षात्कार आयोजित करते हैं, पत्रकारों को इस प्रकार अच्छे लोगों के कौशल की आवश्यकता होती है।

दृढ़ता: पत्रकारों को कहानी की खोज में लगातार बने रहने की आवश्यकता है। उन्हें विभिन्न माध्यमों द्वारा खेलों एवं खिलाड़ियों से जुड़ी जानकारी को एकत्र करना होता है। कई बार वो कई अंदरुनी जानकारी भी एकत्र कर लेते हैं। 

सहनशक्ति: खेल पत्रकारों का काम अक्सर तेज़ होता है, जिससे काम के घंटे लंबे और थकाऊ हो सकते हैं। रिपोर्टर्स को लंबे समय तक काम करने की शक्ति होनी चाहिए। कई बार एक खेल की खबरों के लिए कई दिनों तक लगे रहना पड़ता है। ऐसे में सहनशक्ति बहुत आवश्यक है। बनाए रखने में सक्षम होना चाहिए।

खेलों की अच्छी समझ – आपको खेलों की अच्छी समझ होनी आवश्यक है। आप किस खेल की रिपोर्टिंग कर रहे हैं उसकी बारीकियों के बारे में आपको पता होना चाहिए। 

शोध करने की क्षमता- एक खेल पत्रकार को हमेशा खेल से जुड़े तथ्यों के लिए शोध करने की आवश्यकता होती है। उन्हें खेल के बारे में गहन जानकारी एकत्र करनी होती है।  

शैक्षणिक योग्यता

खेल पत्रकार बनने के लिए सबसे पहले आपको जर्नलिज़म या मास कम्यूनिकेशन में डिग्री हासिल करनी होगी। इसके बाद ही आपका करियर शुरू होगा। खेल पत्रकारिता में अलग से कोई डिग्री या डिप्लोमा नहीं होता है आपको किसी संस्थान से जर्नलिज़म या मास कम्यूनिकेशन में डिग्री हासिल करनी होगी। यहां आपको जर्नलिज़म का बेसिक सीखने को मिलेगा। जैसे रिपोर्टिंग, राइटिंग, एडिटिंग आदि। बेहतर होगा कि आप कोर्स के दौरान इंटर्नशिप करें और किसी भी मीडिया संस्थान की स्पोर्ट्स डेस्क पर काम करें। 

करियर संभावनाएं

खेल पत्रकार के लिए करियर की कई संभावनाएं होती है। जरूरी नहीं कि आप किसी मीडिया संस्थान से ही जुड़े आप किसी खेल के बड़े चैनल से भी जुड़ सकते है जहां ग्रोथ की अपार संभावनाएं होती है। इसके अलावा किसी मैगजीन, अखबार या स्पोर्ट्स और इंटरनेट साइट से भी अपने करियर की शुरुआत कर सकते हैं। आप स्पोर्ट्स एंकर और कमेंटेटर, स्पोर्ट्स रेडियो शो होस्ट, स्पोर्ट्स लेखक आदि के रुप मे करियर बना सकते हैं। 

Connect me with the Top Colleges