Get All India Board Examination Results 2020

कानून में करियर

आज के समय में जब दुनिया में हर कोई अपने ढंग से कार्य करना चाहता है तो उस कार्य में समानता बनाए रखने के लिए हर किसी को कानून की जरुरत पड़ती है। कानून के दायरे में रहकर ही कोई किसी कार्य को करता है। यदि वो इसके विपरित जाता है तो वह अपराध की श्रेणी में आता है। आज के समय में दुनिया जटिल हो गई है। लोगों का जीवन जटिल हैं। अपनी शादी को पंजीकृत करने के लिए, आपको एक वकील चाहिए। एक घर खरीदने या इसे किराए पर लेने के लिए, आपको कानूनी दस्तावेजों पर हस्ताक्षर करने की आवश्यकता होती है। अपने आविष्कार को पेटेंट कराने के लिए, आपको एक वकील की सलाह लेनी होगी।

भारतीय अर्थव्यवस्था की लगातार मजबूती और कॉरपोरेट सेक्टर द्वारा देश और दुनिया में अपनी नई पहचान बनाने से लॉ आकर्षक करियर विकल्प बन गया है। कानून की आज हर किसी को हर जगह जरुरत है। आज के समाज में कानूनी और पैरालीगल सेवाओं का महत्व अधिक नहीं हो सकता है। आज की दुनिया में कानूनी सेवाओं के अभाव में मामलों की स्थिति की कल्पना करना मुश्किल है। कानूनी अधिकारी समाज में शांति और व्यवस्था के एजेंट होते हैं। कानूनी सेवा एक जटिल प्रक्रिया है जो गुणवत्ता और लागत प्रभावी सेवा की पेशकश करने वाले कुशल पेशेवरों की एक टीम को मजबूर करती है। इसलिए, कानूनी क्षेत्र में कई कानूनी कौशल विकल्प हैं, जिनमें कौशल, अनुभव और शिक्षा की एक विस्तृत श्रृंखला शामिल है। कानून और प्रौद्योगिकी में विकास भी नए कानूनी करियर के अवसर पैदा कर रहे हैं।

कानूनी पेशा युवाओं के बीच बीते कुछ वर्षो में काफी लोकप्रिय हुआ है। चुनौतियों से भरा होने के बावजूद यह पेशा करियर की दृष्टि से एक आकर्षक विकल्प है। कानून से जुड़ी पेचिदगियों और विस्तृत होते समाज के बीच वकीलों की भूमिका बेहद अहम हो गई है। उनका महत्व तब और भी बढ़ जाता है, जब समाज में तेजी से कानूनी प्रक्रियाओं और अपने अधिकारों के प्रति जागरूकता आ रही हो। लगभग हर दिन कोई न कोई नया आविष्कार या तकनीकी विकास होता है, इस कारण समय-समय पर सरकार को नए कानून बनाने या पूर्व प्रचलित कानूनों में संशोधन करने की जरूरत पड़ती है। 

पिछले कुछ दशकों में भारत में कानूनी पेशे में व्यापक बदलाव आया है। पहले इसे पारिवारिक पेशे के रूप में देखा जाता था। परिवार पीढ़ियों से पेशों के रूप में कानून चुनते रहे हैं। लेकिन आज दृश्य बदल गया है। इस क्षेत्र के लिए कोई भी लक्षण और जुनून विभिन्न कानूनी करियर के लिए चुनते हैं। भारत में कानूनी पेशे पारंपरिक अपराधी और सिविल वकील से आगे बढ़ गए हैं। इन दिनों भारत में कानून के इच्छुक लोग कॉर्पोरेट घरानों, कानून एजेंसियों, कानून फर्मों, मुकदमेबाजी, प्रशासनिक सेवाओं और कई अन्य कार्यों में काम करते हैं।

कानून के क्षेत्र में उत्कृष्टता हासिल करने के बाद विधि स्नातकों को नाम और दाम दोनों मिलने लगते हैं। विधि क्षेत्र में 15 वर्षीय अनुभव के पश्चात कई वकीलों को भारत के राष्ट्रपति द्वारा संबंधित राज्य के उच्च न्यायालयों में न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया जाता है। इसलिए कानून एक आदर्श व्यवसाय है, जिसमें विधि विशेषज्ञ ढेर सारी प्रतिष्ठा और सम्मान पाते हैं।  सरकार द्वारा लीगल प्रोफेशनल्स को पब्लिक प्रॉसिक्यूटर, सॉलिसिटर्स, डिप्टी या एडिशनल एडवोकेट जनरल और यहाँ तक कि एडवोकेट जनरल के रूप में नियुक्त किया जाता है। कई विभागों में लॉ ऑफिसर तथा लीगल एडवाइजर और लीगल असिस्टेंट्स की आवश्यकता होती है। राज्य के विधि विभाग में चयन परीक्षा के माध्यम से सिविल जज या मुंसिफ की नियुक्ति की जाती है जो आगे चलकर चीफ ज्युडिशियल मजिस्ट्रेट बनते हैं। कानून में करियर बनाने के लिए आज कई विकल्प खुल गए है।

कानूनी और समानांतर सेवाओं के अन्य करियर की सूची नीचे दी गई हैं:

Connect me with the Top Colleges