Get All India Board Examination Results 2020

फिटनेस ट्रेनर एवं इंस्ट्रक्टर

"शारीरिक स्वास्थ्य न केवल एक स्वस्थ शरीर के लिए सबसे महत्वपूर्ण कुंजी है, यह गतिशील और रचनात्मक बौद्धिक गतिविधि का आधार भी है।" - जॉन फिजराल्ड़ कैनेडी

फिटनेस ट्रेनर वह व्यक्ति होता है, जो आपके शरीर और स्वास्थ्य परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए न सिर्फ आपको सही एक्सरसाइज की जानकारी देता है। बल्कि अपनी गाइडेंस में आपके सभी फिटनेस गोल्स को पूरा करने के लिए हर संभव प्रयास करता है। यदि आपके अंदर भी स्वस्थ रहने और दूसरों को स्वस्थ रखने की ललक है। यदि आप स्वास्थ्य के प्रति जागरुक है। योगा, जिम इत्यादि करना आपको पंसद है तो आप फिटनेस ट्रेनर या इंस्ट्रक्टर के रुप में एक शानदार करियर बना सकते हैं। जिसमें करियर की आपार संभावनाएं है। आज के समय में फिटनेस उद्योग दुनिया भर में सबसे तेजी से बढ़ने वाला उद्योग है क्योंकि अधिक से अधिक लोग स्वस्थ जीवन शैली की ओर बढ़ रहे हैं, इसलिए प्रशिक्षित फिटनेस ट्रेनर या इंस्ट्रक्टर की मांग है। यदि आप फिटनेस के प्रति सचेत हैं और समाज में स्वस्थ जीवन शैली का प्रसार करना चाहते हैं तो फिटनेस ट्रेनर या प्रशिक्षक के रूप में कैरियर आपके लिए सही हो सकता है।

फिटनेस ट्रेनर एवं इंस्ट्रक्टर के कार्य

फिटनेस ट्रेनर या इंस्ट्रक्टर आपको अपने जीवन को अच्छी तरह से जीने और सबसे सकारात्मक तरीके से समाज में योगदान करने का एक शानदार अवसर प्रदान करता है। इसके अलावा, प्रशिक्षण और शिक्षा कम है और इस करियर में शुरुआत करना आसान होता है। एक फिटनेस ट्रेनर के तौर पर आपको शारीरिक फिटनेस के साथ साथ एरोबिक्स, फैलेक्सीबिल्टी ट्रेनिंग, बीएमआई, पोषण तथा ट्रेनिंग से जुड़े समस्त उपकरणों आदि का ज्ञान होना अनिवार्य है। इससे लोगों को सही सलाह देने में आसानी होती है। यदि आपको ये समस्त जानकारी है, तो आप उनके शरीर के ढांचे और वजन को देखते हुए उनके लिए एक अच्छी डाइट निर्धारित कर सकते और फिट रहने के लिए उपकरणों के सही प्रयोग के बारे में ज्ञान दे सकते हैं। आप पर्सनल ट्रेनर या ग्रुप ट्रेनर का विकल्प चुन सकते हैं। प्रशिक्षक के रूप में, आपको अक्सर अपने प्रशिक्षण सत्र के कार्यक्रम की योजना बनानी पड़ती है, अपने ग्राहकों की व्यक्तिगत ज़रूरतों को ध्यान में रखते हुए अपने ग्राहकों को प्रेरित करने के लिए एक सुखदायक संगीत या नृत्य अभ्यास का चयन करना। विभिन्न विशेषज्ञ उपलब्ध हैं-अवैयक्तिक फिटनेस ट्रेनर, समूह फिटनेस प्रशिक्षक, विशेष फिटनेस प्रशिक्षक या फिटनेस निर्देशक।

फिटनेस ट्रेनर एवं इंस्ट्रक्टर की भूमिका

  • विभिन्न अभ्यासों और दिनचर्याओं को पूरा करने के तरीके का प्रदर्शन करना।
  • चोट को कम करने और फिटनेस में सुधार करने के लिए लोगों को सही तकनीक दिखाना एवं बातना।
  • फिटनेस और कौशल के विभिन्न स्तरों के लिए वर्कआउट या कक्षाओं के दौरान वैकल्पिक अभ्यास कराना।
  • ग्राहकों की प्रगति की निगरानी करना और आवश्यकतानुसार कार्यक्रमों को अनुकूलित करना।
  • खेल, मनोरंजक गतिविधियों और व्यायाम उपकरणों के उपयोग पर सुरक्षा नियमों और विनियमों को समझाएं और लागू करना।
  • ग्राहकों को पोषण, वजन नियंत्रण और जीवन शैली के मुद्दों के बारे में जानकारी या संसाधन देना।
  • जरूरत पड़ने पर आपातकालीन प्राथमिक उपचार देना।

फिटनेस ट्रेनर एवं इंस्ट्रक्टर के कौशल

ग्राहक-सेवा कौशल: फिटनेस प्रशिक्षकों और प्रशिक्षकों को अपने ग्राहकों को प्राप्त करने और रखने के लिए विनम्र, मैत्रीपूर्ण और उत्साहजनक होना चाहिए।

सुनने का कौशल: फिटनेस ट्रेनर और प्रशिक्षक ग्राहक की फिटनेस के स्तर और वांछित फिटनेस लक्ष्यों को निर्धारित करने के लिए ग्राहक क्या बताते हैं, इसे ध्यान से सुनने में सक्षम होना चाहिए।

रुची पैदा करने का कौशल: ग्राहकों को अधिक कक्षाओं के लिए वापस लाने या व्यक्तिगत प्रशिक्षण जारी रखने के लिए, फिटनेस ट्रेनर और प्रशिक्षक अपने ग्राहकों को प्रेरित रखने में सक्षम होना चाहिए।

शारीरिक फिटनेस: फिटनेस प्रशिक्षकों और प्रशिक्षकों को शारीरिक रूप से फिट होने की आवश्यकता है क्योंकि उनकी नौकरी में काफी मात्रा में व्यायाम की आवश्यकता होती है। समूह प्रशिक्षक अक्सर कक्षाओं में भाग लेते हैं, और व्यक्तिगत प्रशिक्षकों को अक्सर अपने ग्राहकों को अभ्यास दिखाने की आवश्यकता होती है।

समस्या को सुलझाने के कौशल: फिटनेस प्रशिक्षकों और प्रशिक्षकों को प्रत्येक ग्राहक के फिटनेस के स्तर का मूल्यांकन करना चाहिए और ग्राहक की व्यक्तिगत आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए एक उपयुक्त फिटनेस प्लान बनाना चाहिए।

बोलने का कौशल: फिटनेस प्रशिक्षकों और प्रशिक्षकों को अच्छी तरह से संवाद करने में सक्षम होना चाहिए क्योंकि उन्हें ग्राहकों को व्यायाम और आंदोलनों की व्याख्या करने में सक्षम होने के साथ-साथ उन्हें अभ्यास के दौरान मौखिक रूप से प्रेरित करने की आवश्यकता होती है।

ग्राहकों को प्रेरित करनाः फिटनेस ट्रेनर का काम महज अपने क्लाइंट को एक्सरसाइज करवाने तक ही सीमित नहीं होता, बल्कि उसे अपने क्लाइंट को हमेशा मोटिवेट भी करना होता है, ताकि व्यक्ति खुद को फिट करने की राह पर हरदम कदम बढ़ाता रहे। 

सुरक्षा की जानकारीः सेफ्टी रूल्स के बारे में भी ट्रेनर को पता होना चाहिए। कभी−कभी एक्सरसाइज के दौरान लोगों को कई तरह की शारीरिक समस्याएं जैसे सिर में दर्द, उल्टी, चक्कर आना, यहां तक कि बेहोश भी हो जाते हैं, इसलिए फिटनेस ट्रेनर को इन विपरीत स्थितियों से बेहतरीन तरीके से निपटना आना चाहिए। 

फिटनेस ट्रेनर एवं इंस्ट्रक्टर की शैक्षणिक योग्यता

फिटनेस ट्रेनिंग से संबंधित कोर्स के लिए 12वीं पास होना जरूरी है.अगर आप विदेश से फिजिकल ट्रेनर की ट्रेनिंग लेना चाहते हैं तो वहां से ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट लेवल के कोर्स कर सकते हैं। फिटनेस ट्रेनिंग के कोर्स की अगर बात की जाए तो आप नाइक एरोबिक्स कोर्स या रिबॉक इंस्ट्रक्टर सर्टिफिकेशन प्रोग्राम जैसे प्रोफेशनल कोर्स भी कर सकते हैं, जो मुंबई के तलवालकर संस्थान जैसे कई स्थानीय स्तर पर कराए जाते हैं। ये बेसिक कोर्स करीब 80 घंटे की अवधि के होते हैं, जिसमें से 30 घंटे थ्योरी से सिद्धांत पढ़ाए जाते हैं और बाकी भाग प्रैक्टिकल सैशन का होता है। 

फिटनेस ट्रेनर एवं इंस्ट्रक्टर की करियर संभावनाएं

शुरुआती दौर में फिटनेस ट्रेनर को लोगों के बीच अपनी में पहचान बनाना और उनका विश्वास जीतना सबसे बड़ी चुनौती होती है. अगर आपने अपनी पहचान बना ली तो कमाई के अच्छे-अच्छे अवसर मिल सकते हैं। आज लोगों के बीच फिट रहने के लिए एरोबिक्स इंस्ट्रक्टर, योगा इंस्ट्रक्टर तथा पर्सनल ट्रेनर की मांग पहले से कहीं ज्या दा बढ़ गई है। आज फिटनेस ट्रेनर की मांग जिम, बड़े होटल, हेल्थ क्लब, फिटनेस सेंटर, स्पा, टूरिस्ट रिसॉर्ट जैसी तमाम जगहों पर है। कुछ समय का अच्छा अनुभव लेकर आप स्वयं का फिटनेस सेंटर भी शुरू कर सकते हैं। यहां तक कि बड़ी-बड़ी मल्टीनेशनल कंपनियां भी अपने कर्मचारियों के लिए समय-समय पर वर्कपैलेस वेलनेस तथा फिटनेस प्रोग्राम का आयोजन करती हैं, जहां फिटनेस ट्रेनर की जबरदस्त मांग होती है। 

पाक कला और व्यक्तिगत सेवाओं के अन्य करियर विकल्पों की सूची के लिए नीचे क्लिक करें

Connect me with the Top Colleges