Get All India Board Examination Results 2020

शिक्षा में करियर

"शिक्षा सबसे शक्तिशाली हथियार है जिसका उपयोग आप दुनिया को बदलने के लिए कर सकते हैं।" नेल्सन मंडेला

यदि आपको पढ़ने-पढ़ाने का शौक है, यदि आपके पास शिक्षा की शक्ति है, तो इसे दूसरों के साथ साझा क्यों न करें, ताकि दुनिया को रहने के लिए एक बेहतर स्थान बनाया जा सके। यदि आपको दूसरों के साथ समान सीखने और साझा करने का शौक है, तो शिक्षा में करियर आपके लिए सही होगा। 

शिक्षा उद्योग ने दशक भर में चिह्नित बदलाव देखे हैं। यह दुनिया भर में एक बड़े पैमाने पर मुनाफा कमाने और रोजगार को प्रोत्साहित करने वाला उद्योग बन कर उभरा है। भारत और चीन जैसे देशों में इस उद्योग में भारी वृद्धि की उम्मीद है जहां आईटी पेशेवर देश विशेष रुप से हावी है। 

शिक्षा में करियर बनाकर आप ना केवल शिक्षक के रुप में एक बच्चे को शिक्षित करते हैं बल्कि आप पूरे परिवार और देश की शिक्षा में भागीदार बनते हैं।  एक तरफ जहाँ स्कूल टीचर के रूप में आप बच्चों के कोमल मन को शिक्षित करते हैं वहीं दूसरी तरफ कॉलेज के वातावरण में आप छात्रों से मित्रवत व्यवहार कर बौद्धिक स्तर पर उनके साथ विचारों का आदान-प्रदान करते हैं।

भारत में शिक्षकों के लिए अंग्रेज़ी, गणित, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान इत्यादि विषयों में बहुत अवसर उपलब्ध हैं। इंटरनेट के इस युग में जहां बच्चों के पास सूचना आवश्यकता से अधिक मात्रा में उपलब्ध हैं, अच्छे अध्यापकों की मांग निश्चित तौर पर ज्यादा बढ़ गयी है। कुछ स्कूलों द्वारा वर्चुअल क्लासरूम टीचिंग की शुरूआत कर देने से शिक्षकों के लिए अवसर और ज्यादा बढ़ गए हैं। 

स्नातक के  उपरान्त अथवा इसके साथ-साथ ही शिक्षा में स्नातक की डिग्री हासिल की जा सकती है जिसके बाद आप आसानी से किसी स्कूल में अध्यापक का पद पा सकते हैं। साधारणतः सरकारी स्कूलों में अध्यापक का पद प्रतिष्ठित माना जाता है। परन्तु यदि आप शिक्षण की आधुनिक विधाओं का ज्ञान लेना चाहते हैं तो आपको प्राइवेट स्कूल में नौकरी तलाश करनी चाहिए।  

भारत में शिक्षण एक महान पेशा है। कई युवा छात्र स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद। भारत में शिक्षकों के लिए अवसर विशेष रूप से अंग्रेजी, गणित, विज्ञान और सामाजिक अध्ययन जैसे विषयों में महत्वपूर्ण हैं। गुणवत्ता और प्रशिक्षित शिक्षकों की मांग बहुत अधिक है। आज बच्चों को खेलने के लिए शिक्षकों की एक बड़ी भूमिका है क्योंकि इंटरनेट पर सहजता से कई चीजें उजागर होती हैं। यह न केवल शिक्षण के बारे में है, बल्कि शिक्षकों को भी बच्चे के मनोविज्ञान को समझना होगा और माता-पिता को बच्चे की प्रगति के बारे में अपडेट रखना होगा। एक शिक्षक की नौकरी उन लोगों के लिए भी उपयुक्त है जो देर शाम तक काम नहीं कर सकते हैं क्योंकि आमतौर पर शिक्षकों के काम समय 8 से 3 बजे तक होता है।

शैक्षणिक योग्यता

कॉलेज में अध्यापन से करियर की शुरूआत करने के लिए आपको पोस्ट ग्रैजुएट और उसके बाद डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त करना आवश्यक है। इसके बाद आपको प्रवेश परीक्षा भी पास करनी पड़ेगी।

करियर संभावनाएं

प्रतिष्ठित कॉलेज व यूनिवर्सिटीज़ में अवसरों की भले ही कमी हों परन्तु प्राइवेट कॉलेज एवं स्कूलों में एजुकेशन में डिग्री लेने के पश्चात आसानी से नौकरी प्राप्त की जा सकती है। इसके अलावा, एनआईआईटी, एप्टेक, सीएससी, सीएमसी जैसे संस्थानों ने प्रोग्रामिंग के क्षेत्र में ट्रेनर्स के लिए संभावनाएं पैदा कर दी हैं। कई परास्नातक छात्र अतिरिक्त धन कमाने के उद्देश्य से इन संस्थानों में पार्ट-टाईम जॉब करते हैं। यूके व यूएस जैसे देशों में हालाँकि शिक्षा तंत्र बहुत अलग है परन्तु सभी जगह इस क्षेत्र में अवसर अनेक हैं तथा साथ ही यह सबसे ज़्यादा आदरणीय प्रोफेशन में से एक है।

भारत में शिक्षा से संबंधित करियर की पूरी सूची के लिए नीचे क्लिक करें

Connect me with the Top Colleges