Get All India Board Examination Results 2020

भारतीय नौसेना में करियर

क्या आपको भी समुद्र की ऊंची-ऊंची लहरों के बीच दौड़ना पसंद है। क्या आपको भी रोमांचक कार्य करना पसंद है तो देश की नौसेना में आपके लिए दरवाजे खुलें हैं। देश सेवा का जज्बा मन में रखने वाले युवा भारतीय नौसेना में शामिल होकर करियर बना सकते हैं। भारतीय नौसेना युवा पुरुषों और महिलाओं के लिए रोमांचक अवसर प्रदान करती है। भारतीय नौसेना द्वारा प्रदान किए जाने वाले अवसर अनगिनत हैं। एक जहाज के प्रभारी होने से लेकर एक विमान उड़ाने या स्वतंत्र रूप से एक विभाग की देखभाल करने तक, भारतीय नौसेना भारतीय नौसेना की असीम सीमाओं का पता लगाने के लिए जीवन भर का अवसर देती है। यह न केवल एक शानदार क्षेत्र है, बल्कि इसमें चुनौतियां भी हैं। नौसेना में कई क्षेत्र हैं जिनमें युवा अपना करियर बना सकते हैं। भारतीय नौसेना शानदार वेतन और सुविधाएं भी प्रदान करती हैं। 

भारतीय नौसेना के एक अधिकारी के रूप में, आपके पास जहाजों, पनडुब्बियों और विमानों पर नवीनतम तकनीक के साथ काम करने का दुर्लभ अवसर हो सकता है। यह भारतीय सशस्त्र बलों के बीच एकमात्र सेवा है जो दुनिया भर की नौसेनाओं के साथ बातचीत करती है। आपको एक देश से दूसरे देश में घूमने का अवसर भी इस क्षेत्र के तहत मिल सकता है। 

नौसेना पानी के रास्ते आने वाली हर मुसीबत से देश को महफूज रखती है। ज्वार-भाटा हो या सुनामी या अन्य देशों की समुद्री हलचल, समुद्र में होने वाली हर गतिविधि पर नौसेना की कड़ी नजर रहती है। देश के दुश्मन हमारे अमन-चैन को नुकसान पहुंचाने के लिए किसी भी रास्ते से आक्रमण कर सकते हैं, इसलिए समुद्री सीमाओं पर पैनी निगाह रखना आवश्यक है।

भारतीय नौसेना के करियर विकल्प

भारतीय नौसेना एक ऐसा करियर है, जिससे जुड़ कर आप देश सेवा के साथ-साथ अपना भविष्य भी अच्छा बना सकते हैं। बस, थोड़ी सी हिम्मत और देशभक्ति का जज्बा तथा कुछ कर गुजरने की चाहत आपको भारतीय नौसेना का हिस्सा बनाने के लिए काफी है। नौसेना की पहली प्राथमिकता समुद्री क्षेत्र में देश की सुरक्षा है। नेवी में रोमांच है, चैलेंज है, सेवा का मौका है, प्रतिष्ठा है। ये देश के राजनीतिक उद्देश्यों और विदेश नीति को पूरा करने में भी अहम योगदान निभाती हैं। इनके काम में देश की औद्योगिक ताकत का प्रदर्शन, मदद मुहैया कराने के जरिए भरोसा पैदा करना और प्रवासियों के साथ रिश्तों को प्रगाढ़ बनाना शामिल है। नेवल एकेदमी से स्नातकों को अब विदेशों में इस तरह के डिप्लोमैटिक काम में हिस्सा लेने के लिए भेजा जाता है। यहां संबंधित पदों और जिम्मेदारियों की जानकारी दी जा रही है।

एग्जिक्यूटिव ऑफिसर
इस ब्रांच के तहत आने वाले ऑफिसर ही समुद्र में जाने वाले जहाजों, पनडुब्बियों को कमांड करते हैं। एग्जिक्यूटिव ऑफिसर्स को गनरी, लॉजिस्टिक्स, डाइविंग एंटी-सबमरीन वारफेयर, नेवीगेशन, कम्युनिकेशन और हाइड्रोग्राफी जैसे प्रशिक्षण दिए जाते हैं। कोई भी ऑफिसर हवाई या सबमरीन आर्म की ट्रेनिंग में से किसी एक को चुन सकता है।

इंजीनियरिंग ब्रांच 
इसमें आधुनिक तकनीक से लैस पानी में चलने वाली पनडुब्बियों और जहाजों के बारे में तकनीकी प्रशिक्षण दिया जाता है। इन सारे सिस्टम्स के सुचारु तरीके से काम करने के लिए इंजीनियर ऑफिसर जिम्मेदार होते हैं। इन्हें नेवल डॉकयार्ड के तटों और स्वदेशी प्रोडक्शन यूनिट में भी काम करने का अवसर मिलता है। 

सबमरीन ऑफिसर
सबमरीन में मौजूद ऑफिसर्स की एक बड़ी जिम्मेदारी यह होती है कि वह शांतिकाल में भी खुद को युद्घ के लिए प्रशिक्षित करें। सबमरीन ऑफिसर के लिए कठोर ट्रेनिंग करनी होगी। यदि आप इसे सफलतापूर्वक पूरा कर लेते हैं, तब आप डॉल्फिन बैज लगाने और नेवी के अत्यंत विशिष्ट सबमरीन आर्म के सदस्य बनने के हकदार हो जाते हैं।

एजुकेशन ब्रांच
ये लोग ओशियनोग्राफी और मीटियोरोलॉजी में भी विशेषज्ञ होते हैं। प्रशिक्षण में एजुकेशन ऑफिसर्स की बड़ी भूमिका होती है। ये लोग नेवी और सामान्य एजुकेशन से संबंधित सभी शाखाओं के तकनीकी विषयों के थ्योरिटिकल संदर्भों सहित साइंटिफिक और मेथॉडिकल दिशा-निर्देशों के लिए जिम्मेदार होते हैं।

संगीतकार
यदि आप संगीत से प्यार करते हैं और आप एक ऐसे करियर की तलाश में हैं जो आपको अपने संगीत को बनाए रखने में मदद करे और इसके साथ कुछ रोमांच भी भरा हो तो एक संगीतकार के रूप में भारतीय नौसेना में शामिल होना सही विकल्प है। यदि आप संगीत और पश्चिमी संकेतन के ज्ञान और संगीत और थ्योरी के विशेषज्ञ हैं और कुछ वाद्ययंत्र जैसे कि पर्क्यूशन और ब्रास बजाना चाहते हैं, तो भारतीय नौसेना में शामिल हों सकते हैं।

आर्टिफिशर अपरेंटिस (कृत्रिम प्रशिषु) योग्यता

जिन उम्मीदवारों ने भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और गणित के साथ कक्षा 12 पास किया है, वे आर्टिफिशर अपरेंटिस की स्थिति के लिए आवेदन करने योग्य हैं। इसके साथ ही छात्रों की आयु 17 से 20 वर्ष की होने के साथ वह अविवाहित पुरुष आवेदन होने चाहिए। प्रशिक्षण आईएनएस चिल्का में शुरू होता है और फिर 8 सप्ताह के समुद्री प्रशिक्षण के बाद चार साल के तकनीकी प्रशिक्षण के साथ शुरू किया जाता है जो कि एरोनॉटिकल / मैकेनिकल / इलेक्ट्रिकल इंजीनियर में डिप्लोमा के बराबर है। हालाँकि प्रारंभिक जुड़ाव 20 साल की अवधि के लिए है, लेकिन इसे 57 साल की उम्र तक बढ़ाया जा सकता है।
 
वरिष्ठ माध्यमिक भर्ती
17-20 वर्ष के आयु वर्ग के अविवाहित पुरुष जिन्होंने विज्ञान स्ट्रीम में 12वीं परीक्षा उत्तीर्ण की है, वे आवेदन करने के पात्र हैं। आईएनएस चिल्का में गहन प्रशिक्षण के बाद नौसेना प्रतिष्ठानों में प्रशिक्षण के बाद, उम्मीदवार को भारतीय नौसेना में वरिष्ठ माध्यमिक भर्ती नाविक के रूप में भर्ती किया जाता है।

मैट्रिक भर्ती और गैर मैट्रिक भर्ती (एमआर और एनएमआर)
यदि आपने केवल 10 वीं कक्षा उत्तीर्ण की है या 6 वीं कक्षा तक की पढ़ाई की है, तो आप भारतीय नौसेना में एक स्टुवर्ड या कुक के रूप में शामिल हो सकते हैं। आईएनएस चिल्का में प्रारंभिक प्रशिक्षण के बाद, उन्हें विभिन्न नौसेना प्रतिष्ठानों में अपने संबंधित व्यापार पर प्रशिक्षित किया जाता है। इसकी प्रारंभिक अवधि 15 वर्ष के लिए है जिसे 57 वर्ष की आयु तक बढ़ाया जा सकता है।

चयन प्रक्रिया
सभी प्रमुख अखबारों में जून / जूलाई और दिसंबर / जनवरी में वर्ष में दो बार आयोजित की जाने वाली परीक्षा के लिए विज्ञापन दिए जाते हैं।  यहां क्लिक करें

वेतन और भत्ते
अपरेंटिस नाविक X समूह के अंतर्गत आते हैं जबकि अन्य Y समूह में आते हैं। वेतन 5200 रुपये के 20200 रुपये के बैंड के बीच है। अन्य भत्तों में बीमा कवर, 60 दिनों की वार्षिक छुट्टी, मुफ्त घर और घर का भत्ता शामिल है। वेतन और भत्तों के बारे में अधिक जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

भारतीय नौसेना के बारे में अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

Connect me with the Top Colleges