Get All India Board Examination Results 2021

नर्स

यदि आपको लोगों की सेवा एवं उनकी देखरेख करना अच्छा लगता है, यदि आपके अंदर सहानुभूति की भावना है, आप अपने काम के जरिए लोगों की मदद करना चाहते हैं तो आप नर्स के रुप में करियर बना सकते हैं। नर्स का करियर केवल महिलाओं के लिए ही नहीं होता बल्कि पुरुषों के लिए भी इस क्षेत्र में समान संभावनाएं है। नर्स स्वास्थ्य पेशेवर होते है जो ध्यान केंद्रित और अत्यधिक व्यक्तिगत देखभाल प्रदान करते हैं। कैरियर के रूप में नर्सिंग अवसरों की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करती हैं, जिसमें प्रवेश-स्तर के चिकित्सक से लेकर डॉक्टरेट-स्तरीय शोधकर्ता तक शामिल हैं। यह दुनिया भर में सबसे बड़ी नौकरी के विकास के साथ व्यवसायों के बीच भी है।

नर्स का पद डॉक्टर और शिक्षक की तरह ही एक सम्मानजनक पद है, एक मरीज़ का इलाज डॉक्टर करता है, परन्तु  उस मरीज़ की देखभाल नर्स करती है, तथा उन्हें समय के अनुसार दवाएं देती है, नर्सें मरीजों, परिवारों और समुदायों के लिए वकील के रूप में भी काम करती हैं। वे नर्सिंग देखभाल योजनाओं को विकसित और प्रबंधित करते हैं; उचित देखभाल में रोगियों और उनके परिवारों को निर्देश देती; और व्यक्तियों और समूहों को अपने स्वास्थ्य को सुधारने या बनाए रखने के लिए कदम उठाने में मदद करें है।

नर्सिंग के कई प्रकार है। जनरल नर्स, हॉस्पिटल, नर्सिंग होम और चिकित्सालय संस्थानों में नर्सिंग का काम करने वालों को जरनल नर्स कहा जाता है। उनके मुख्य कार्य में मरीजों की देखभाल, डॉक्टर के काम में सहयोग और प्रशासनिक जिम्मेदारियां शामिल हैं। इसके बाद मिडवाइफः इस श्रेणी में वह नर्स आती हैं, जिनकी विशेषज्ञता गर्भवती महिलाओं का ख्याल रखना और चाइल्डबर्थ के दौरान सहायता मुहैया करना है। इसके अलावा हेल्थ वर्कर के रूप में भी काम करते हैं। ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों को चिकित्सकीय उपलब्ध कराने वाले नर्सिंग से जुड़े लोग हेल्थ वर्कर कहलाते हैं। 

नर्सों की भूमिका

  • मरीजों के मेडिकल इतिहास और लक्षण का रिकॉर्ड रखना।
  • रोगी की स्थिति का आकलन करना और मरीजों की देखभाल के लिए योजनाएं बनाना।
  • रोगियों का निरीक्षण करना और टिप्पणियों को रिकॉर्ड करना।
  • डॉक्टरों और अन्य स्वास्थ्य देखभाल पेशेवरों के साथ परामर्श करना।
  • चिकित्सा उपकरणों का संचालन और निगरानी करना।
  • नैदानिक परीक्षण करने में मदद करना और परिणाम का विश्लेषण करना।
  • मरीजों और उनके परिवारों के बीच जागरूकता पैदा करना कि वे अपनी बीमारियों या चोटों का प्रबंधन कैसे करें।
  • उपचार के बाद घर की देखभाल के बारे में जानकारी देना।

नर्स बनने के आवश्यक कौशल

मूल्यांकन कौशल: नर्सों को रोगियों की स्वास्थ्य स्थिति में परिवर्तन का आकलन करने में सक्षम होना चाहिए।

अनुकंपा: नर्सों को देखभाल और सहानुभूति होनी चाहिए, ऐसी विशेषताएं जो रोगियों का इलाज करते समय मूल्यवान हैं।

सही निर्णय: नर्सों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि रोगियों को सही समय पर सही उपचार और दवाएं मिलें।

भावनात्मक स्थिरता: नर्सों को मानवीय पीड़ा, आपात स्थिति और अन्य तनावों से निपटने के लिए भावनात्मक स्थिरता की आवश्यकता होती है।

धैर्य: नर्सों को धैर्य रखना चाहिए ताकि वे तनावपूर्ण या व्यस्त परिस्थितियों में गुणवत्ता देखभाल प्रदान कर सकें।

पारस्परिक कौशल: आरएन सभी उम्र और पृष्ठभूमि के लोगों के लिए देखभाल प्रदान करता है, इसलिए उनके पास अच्छे पारस्परिक कौशल होने चाहिए।

नर्स की शैक्षणिक योग्यता

नर्सिंग के क्षेत्र में करियर बनाने के लिए भौतिक, रासायनिक एवं जीव विज्ञान में बारहवीं उत्तीर्ण करना आवश्यक है इसके बाद आप एएनएम व जीएनएम के अलावा देश भर में फैले हुए विभिन्न नर्सिंग स्कूलों व कॉलेजों से नर्सिंग में स्नातक भी किया जा सकता है। बीएससी नर्सिंग (बेसिक के पश्चात) पाठ्यक्रम के लिए आप दो वर्ष के रेगुलर कोर्स या त्रिवर्षीय दूरस्थ शिक्षा वाले पाठ्यक्रम में से किसी एक को चुन सकते हैं।  भारतीय रक्षा सेवाओं द्वारा संचालित बीएससी (नर्सिंग) कोर्स के लिए 17 से 24 वर्ष की महिलाओं का चयन किया जाता है।  प्रार्थी को एक लिखित परीक्षा भी पास करनी होती है। उसे शारीरिक रूप से भी फिट रहना चाहिए। चयनित लोगों को रक्षा सेवाओं के लिए पांच वर्ष का अनुबंध करना होता है। 

नर्स की करियर संभावनाएं

नर्सिंग कोर्स को करनें के पश्चात आपको अस्पतालों में स्टाफ नर्स के पद पर नियुक्त किया जाता है, दो या तीन वर्ष का अनुभव प्राप्त करनें के पश्चात आप वार्ड सिस्टर का पद प्राप्त हो जाता है, नर्सिंग करनें  के बाद आप सरकारी और निजी अस्पतालों में नौकरी कर सकते हैं, इसके अतिरिक्त आप कम्युनिटी हेल्थ नर्सेस, स्पेशल क्लिनिक व केयर सेंटर, स्कूल हेल्थ नर्सेस, इंडस्ट्रीयल नर्स और आर्म्ड फोर्सेस, ड्रग कंपनी और काउंसलिंग सेंटर में भी नौकरी कर सकते हैं, साथ ही आप नर्सिंग कॉलेजों में टीचर भी बन सकते हैं । बीएससी नर्सिंग करनें के पश्चात अपनी रूचि के अनुसार,  सेना में नर्स बनने हेतु आवेदन कर सकते हैं ।

हेल्थकेयर में करियर विकल्पों की अन्य सूची के लिए नीचे क्लिक करें

Connect me with the Top Colleges