Get All India Board Examination Results 2020

खेल में करियर

एक समय था जब बच्चो से कहा जाता था कि पढ़ागे-लिखोगे तो बनोगे नवाब, खेलोगे कूदोगे तो बनोगे खराब। लेकिन आज स्थित बदल गयी है। आज खेलों में बढ़ती प्रतिस्पर्धा एवं शानदार करियर को देखकर कहा जाता है कि पढ़ोगे लिखोगे तो बनोगे नवाब, लेकिन खेलोगे कूदोगे तो बनोगे नायाब। यह खेलों की बढ़ती लोकप्रियता ही है कि आज इसमें करियर के कई विकल्प खुले हैं। खेल से मतलब केवल क्रिकेट से नहीं है बल्कि, फुटबॉल, हॉकी, टेनिस एवं खेलों के प्रति बढ़ती स्वास्थ्य सेवाओं से भी है। जिनमें ट्रेनर, कोच इत्यादि आते हैं। यदि आपके अंदर भी खेलों में कुछ बड़ा करने की आकांक्षा है, यदि आपके दिल में भी किसी खेल को लेकर पागलपन एवं जुनून है तो खेल में शानदार करियर आपका इंतजार कर रहा है। खेल में करियर बनाना ना केवल आपको डेस्क से चिपक कर बैठने वाली नौकरी से आजादी देता है बल्कि अपनी इच्छा से आसमां छूने का मौका भी देता है। खेल में आप केवल एक खिलाड़ी के रुप में ही करियर नहीं बना सकते बल्कि आप अन्य गतिविधियों से जुड़ कर भी करियर के विकल्प तलाश सकते हैं। 

यदि आप में किसी भी खेल के लिए एक जुनून है जो आप खेलते हैं, तो आप इस पेशे में खुद के लिए एक जगह बनाते हैं। आप चिकित्सा, विपणन, प्रशासन, प्रबंधन और पत्रकारिता जैसे क्षेत्रों में काम कर सकते हैं। आज की दुनिया में, बहुत कम उम्र के अधिक से अधिक बच्चे खेलकूद में ले जा रहे हैं। वे सभी अपने देश का नाम भविष्य में रोशन करने एवं ओलंपिक या विश्व चैंपियनशिप का खिताब जितने का सपना लिए जाते हैं। आज खेलों को लोकप्रिय बनाने में कई महत्वपूर्ण खिलाडियों का भी योगदान रहा है। महिला एवं पुरुष दोनों के लिए इस क्षेत्र में दरवाजे खुले हैं। विराट कोहली, महेन्द्र सिंह धोनी, सचिन तेडूंलकर, सानिया मिर्जा, सायना नेहवाल, अभिनव बिंद्रा जैसे कई महान दिग्गज खिलाडियों ने खेलों के प्रति युवाओं को आकर्षित किया है।

भारत में खेल संबंधी करियर का दायरा

वे दिन आ गए जब भारत में खेलों को एक मुख्य धारा के करियर विकल्प के रूप में नहीं माना जाता था। माता-पिता इस बारे में बहुत आशंकित थे और जब बच्चे इस क्षेत्र में होना चाहते थे तो उत्साहजनक नहीं थे। लेकिन समय के साथ सब कुछ बदल जाता है और इसलिए माता-पिता की मानसिकता बदल गई है।

पिछले एक दशक में भारत में खेल से जुड़े करियर में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। भारत में क्रिकेट के अलावा अन्य खेलों में रुचि और इंडियन सुपर लीग और प्रो कबड्डी लीग जैसे टूर्नामेंटों की सफलता के साथ, चीजें उज्ज्वल दिख रही हैं। हाल के एक अंतरराष्ट्रीय खेल आयोजन में खेल लोगों की सफलता ने खेल करियर पर ध्यान केंद्रित किया है। खेल आपके शरीर को शारीरिक रूप से स्वस्थ बनाने और मन को अच्छा रखने में आपकी मदद करते हैं। यदि आप खेल को करियर के रूप में चुनते हैं, तो यह बहुत प्रसिद्धि और पैसा भी देता है। 

खेल में करियर विकल्प

  • खेल पत्रकार
  • खेल प्रबंधक
  • खेल मार्केटिंग
  • खेल प्रशिक्षक
  • खेल डाइटीशियन
  • फिटनेंस एक्सपर्ट

शैक्षणिक योग्यता

वैसे तो खेल मे करियर बनाने के लिए आपको विशेष डिग्री की आवश्यकता नहीं होती। यदि आप खिलाड़ी के रुप में करियर बनाना चाहते हैं तो आपको स्कूल एवं कॉलेज के स्तर की प्रतियोगिताओं में अच्छा प्रदर्शन करना होगा। वहीं खेल प्रशिक्षक एवं कोच बनने के लिए आपको खेल में महारत हासिल करने के साथ फिजिकल एजुकेशन जैसे विषयों में डिग्री एवं डिप्लोमा करना होगा।  

करियर संभावनाएं

खेल में करियर उतना ही रोमांचक है जितना कि खेल खेलना। आप एक फुटबॉल कोच हो सकते हैं जिससे अपनी टीम को जीताने में अहम भूमिका अदा कर सकते हैं, या आप फिटनेस प्रशिक्षक बनकर युवा खिलाड़ियों को फिट और चुस्त रहने के लिए काम कर सकते हैं, आप किसी विद्यालय में खेल शिक्षक के रुप में भी कार्य कर सकते हैं। आप किसी खेल से जुड़ कर उसमें महारत हासिल कर सकते हैं, आप राष्ट्रीय एवं अंतराष्ट्रीय स्तर पर देश के लिए खेल सकते हैं, अपना नाम बना सकते हैं। इतना ही नहीं आप खेल पत्रकारिता से भी जुड़ कर नाम और पैसा कमा सकते हैं। आप किसी अच्छे माडिया संस्थान से जुड़ कर इसमें कार्य कर सकते हैं।

खेल से सबंधित अन्य करियर विकल्पो की सूची के लिए नीचे क्लिक करें


Connect me with the Top Colleges